Tag: मद्रास

  • मुझे चुनौतियां बहुत पसंद हैं: रेम्या श्रीकंटन

    मुझे चुनौतियां बहुत पसंद हैं: रेम्या श्रीकंटन

      सतीष के. श्रीवास्तव, आईआईएन/चेन्नई, @Infodeaofficial मुझे चुनौतियां बहुत पसंद हैं और चुनौतियों को पार कर खुद को साबित करना मुझे बहुत अच्छे तरीके से आता है। यह कहना है एयरपोर्ट अथॉरिटि ऑफ इंडिया (एएआई) के दक्षिणी जोन की पहली महिला फायर फायटर रेम्या श्रीकंटन का। रेम्या ने हाल ही में यह पदभार सम्भाला है…

  • आईआईटी मद्रास में प्रिप्लेसमेंट 88 प्रतिशत बढ़ा

    आईआईटी मद्रास में प्रिप्लेसमेंट 88 प्रतिशत बढ़ा

    आईएनएन/चेन्नई, @Infodeaofficial भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) मद्रास में प्रिप्लेसमेंट 88 प्रतिशत बढ़ा है। इसका श्रेय इंटर्नशिप प्रोगराम को जाता है। इंटर्नशिप प्रोगराम से संस्थान के विद्यार्थियों को खासा लाभ पहुंचाया है। इस इंटर्नशिप कार्यक्रम के तहत विद्यार्थियों को विभिन्न कंपनियों के साथ काम करने और सीखने का मौका मिलता हैै। इससे विद्यार्थियों को न केवल कंपनियों…

  • देश के आर्थिक विकास की धुरी बनेगी महत्वाकांक्षाी सागरमाला परियोजना

    देश के आर्थिक विकास की धुरी बनेगी महत्वाकांक्षाी सागरमाला परियोजना

    1998 में एक परियोजना शुरू हुई थी स्वर्णिम चर्तुभुज योजना। रिकार्ड चार वर्ष में तैयार होकर इसने देश के चार महानगरों दिल्ली, मुंबई, कलकत्ता व मद्रास को जोड़ दिया और अब बहस इस पर होने लगी कि इससे देश का माल परिवहन यातायात तीव्र हुआ तो देश की अर्थव्यवस्था पर इसका क्या असर पड़ा? निस्संदेह…

  • अनियमितता-भ्रष्टाचार का पर्याय बना दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा, मद्रास

    अनियमितता-भ्रष्टाचार का पर्याय बना दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा, मद्रास

    समकुलपति आरएफ नीरलकट्टी के निर्देशों पर होता है हर काम 1918 में महात्मा गांधी ने की थी स्थापना भारतीय संसंद ने 1964 में दिया था राष्ट्रीय महत्व का दर्जा भरत संगीत देव, आईएनएन/नई दिल्ली, @infodeaofficial  इसमें कोई संदेह नहीं कि भारत एक बहुभाषी देश है और इससे भी इनकार नहीं किया जा सकता कि आज हिंदी…

  • कचरे का बेहतर प्रबंधन न कर खुद तैय्यार कर रहे है प्रकृति व अपने लिए विनाशक

    कचरे का बेहतर प्रबंधन न कर खुद तैय्यार कर रहे है प्रकृति व अपने लिए विनाशक

    आर. रंजन, आईएनएन, चेन्नई; अपने घर और आस-पास के कचरे का बेहतर प्रबंधन न कर हम प्रकृति और खुद के लिए एक विनाशक तैय्यार कर रहे हैं। आने वाली पीढ़ी के लिए स्वच्छ और बेहतर माहौल देने लिए यह जरूरी है कि हम अपने कचरे के निस्तारण और उसका इस्तेमाल अपने घर से शुरू करें।…