Category: शिक्षा

0

उपयोगिता, विश्वसनीयता और प्रतिस्पर्धा के साथ सेवाएं मौजूदा समय की मांग

विष्णु शर्मा, आईआईएन/चेन्नई, @svs037 बदलते समय के साथ मनुष्य की जरूरतें भी बढ़ती जा रही हैं। मैजूदा समय की भी यही मांग है कि घरेलू और वैश्विक बाजार में उपयोगिता, विश्वसनीयता और प्रतिस्पर्धा के...

0

आईआईटी मद्रास में चार दिवसीय सम्मेलन शुरू

विष्णु शर्मा, आईआईएन/चेन्नई, @svs037 इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मद्रास में गुरुवार को सतत लागत पर सतत विकास विषय पर प्रथम अब्दुल कलाम कॉन्फ्रेंस की शुरुआत हुई। यह चार दिवसीय कॉन्फ्रेंस अमरीका के तक्ष्य सेंटर...

0

साल के अंत तक मिलेगा क्यूआर कोड से लैस स्मार्ट कार्ड

आईआईएन/चेन्नई, @Infodeaofficial इस साल के अंत तक राज्य के सभी सरकारी स्कूलों के शिक्षकों को स्मार्ट कार्ड दिया जाएगा, जिसमें क्यूआर कोड के माध्यम से शिक्षकों का पूरा विवरण रहेगा। यह जानकारी स्कूली शिक्षा...

0

स्मार्ट इंडिया ओपन हैकथन का समापन कल

विष्णु शर्मा, आईआईएन/चेन्नई, @svs037 एसआरएम इंस्टीट्यूट आफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी की ओर से स्मार्ट इंडिया ओपन हैकथान 2019 (हार्डवेयर संस्करण) के फाइनल का आयोजन किया जा रहा है। इसमें देशभर से विद्यार्थी भाग ले...

0

मेडिकल व बीडीएस काउंसलिंग शुरू

आईआईएन/चेन्नई, @Infodeaofficial ओमंदूरार गवर्नमेंट मल्टी स्पेशलिटी व मेडिकल कॉलेज परिसर में मंगलवार को एमबीबीएस व बीडीएस की काउंसलिंग शुरू हुई। मंत्री सी. विजयभास्कर ने सामान्य काउंसलिंग की विधिवत शुरुआत की। नीट के नतीजे आने...

0

बीएससी जैन विद्यालय ने मनाया मदर्स डे

आईआईएन/चेन्नई, @Infodeaofficial सभी माताओं को अपनी ओर से श्रद्धा-सुमन अर्पित करने के लिए श्री बादलचंद सायरचंद चोरडिया जैन विद्यालय मैट्रिकुलेशन हायर सेकंडरी स्कूल में मदर डे मनाया गया। इस कार्यक्रम में करीब 250 से...

0

विश्व स्तरीय शिक्षा संस्थान बनाने के लिए 400 करोड़ रुपए आवंटित

आईआईएन/नई दिल्ली, @Infodeaofficial  देश में विश्‍व स्‍तरीय शिक्षा संस्‍थान बनाने के लिए सरकार ने वित्‍त वर्ष 2019-20 में 400 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। यह राशि पिछले वर्ष के संशोधित अनुमानों की तुलना...

0

वार्षिकोत्सव में शिक्षिकाओं और मेरिटोरियल छात्राओं का सम्मान

आईआईएन/चेन्नई, @Infodeaofficial  माम्बलम स्थित श्री बीएस मूथा कन्या स्कूल का 41वां वार्षिक महोत्सव तैनाम्पेट स्थित कामराज मेमोरियल हॉल में आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि हस्तीमल नाहर थे। बतौर अतिथि कोरस्पोंडेंट पारस मुणोत, सचिव धर्मीचंद...

0

उपराष्ट्रपति के हस्तक्षेप के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेने वाले आंध्र प्रदेश के छात्रों को राहत

आईआईएन/नई दिल्ली, @Infodeaofficial उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडु ने आज केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री, डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ को सलाह दी कि सभीप्रदेशों के हायर सैकेंडरी या इंटरमीडियेट बोर्डों को यह सिफारिश जारी करने पर विचार किया जाना चाहिए कि जो शिक्षा बोर्ड अपने परिणामग्रेडों में जारी करते हैं उन्हें साथ ही में अंक भी जारी करने चाहिए जिससे प्रतिशत के आधार पर विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवेदनकरने में सरलता हो। आज उपराष्ट्रपति ने केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री को संसद भवन में अपने कक्ष में बुला कर इस मुद्दे पर चर्चा की। इससे पहले आंध्रप्रदेश के कुछ छात्रों ने उपराष्ट्रपति से मिलकर, दिल्ली विश्वविद्यालय में उनके प्रवेश में आ रहे व्यवधान से, उन्हें अवगत कराया था। आंध्र प्रदेश के इंटरमीडिएट बोर्ड ने 2017-18 से प्रथम वर्ष के लिए ग्रेडिंग प्रणाली लागू की थी, जो 2018-19 के द्वितीय वर्ष के लिए भी लागूरही। ग्रेडिंग प्रणाली के तहत छात्रों को हर विषय में ग्रेड दिये जाते हैं। चूंकि दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रवेश अंकों के प्रतिशत के आधार पर मिलता है, अत: इन छात्रों ने यह मुद्दा उपराष्ट्रपति के समक्ष उठाया। कुछ दिन पहले उपराष्ट्रपति ने संबंद्ध अधिकारियों को दिल्ली विश्वविद्यालय प्रशासन को छात्रों की समस्या से अवगत कराने के निर्देश भीदिये थे। उपराष्ट्रपति के हस्तक्षेप के बाद दिल्ली विश्वविद्यालय प्रशासन ने इस विषय पर संबंद्ध अधिकारियों से चर्चा भी की थी। इससे पूर्व आज ही सुबह उपराष्ट्रपति ने दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. योगेश कुमार त्यागी तथा छात्र कल्याण के डीन प्रो. राजीवगुप्ता से अपने आवास पर, इस समस्या पर विस्तृत चर्चा भी की। कुलपति ने विश्वास दिलाया कि छात्रों के हितों का संरक्षण किया जायेगाऔर प्रवेश अंकों के प्रतिशत के आधार पर दिया जायेगा न कि ग्रेड या CGPA के आधार पर। विश्वविद्यालय प्रशासन ने आंध्र प्रदेश के छात्रों को ईमेल तथा SMS के माध्यम से सूचित किया है कि वे इंटरमीडिएट बोर्ड से अपने अंकोंको डाउनलोड कर, उसे दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए आवेदन के साथ अपलोड करें।

0

विद्यार्थियों के बेहतर भविष्य के काम कर रही तमिलनाडु सरकार

आईआईएन/चेन्नई, @Infodeaofficial एक जमाना था जब आईआईटी और मेडिकल के परिक्षाओं में तमिलनाडु के विद्यार्थी अधिकांश संख्या में अव्वल लाने के बजाय अधिक सीटे प्राप्त करते थे लेकिन पिछले कुछ दशकों से इस संख्या...